Latest Hindi News.

2 भागो में ली गई 10वी और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं||2 Bhage me le gayi 10vii aur 12vii kii board parikshaayen.

0
2 भागो में ली गई 10वी और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं। 10vii aur 12vii kii board parikshaayen.
पूरे साल आधे से अधिक समय तक स्कूल रहे बंद, बदला बोर्ड परीक्षा का सारा पैटर्न

खुलने के बाद भी 80% बच्चे नहीं आए स्कूल।

कोरोना संक्रमण कम होने के बाद भी कोरोना का डर छात्र-छात्राओं और अभिभावकों में चल रहा। स्कूल तो अक्टूबर में ही खुला लेकिन अभिभावकों ने बच्चों को स्कूल नहीं भेजा। खासकर सरकारी स्कूल में कोरोना संक्रमण के डर से सरकारी स्कूल में 80 फीसदी बच्चे अनुपस्थिति रहे। ऐसे में सरकारी स्कूल की पढ़ाई की स्थिति काफी बिगड़ रही है। इसका असर अगले साल होने वाले वार्षिक परीक्षा पर भी दिखेगा।

कोरोना संक्रमण के कारण राज्य सरकार द्वारा 2021 की वार्षिक परीक्षा नहीं ली गयी।

स्नातक(Graduate) और पीजी की परीक्षाओं में हुई देरी।

गत वर्ष पीयू, पाटलिपुत्र विवि, मगध विवि आदि की परीक्षाएं प्रभावित रहीं। स्नातक(Graduate) के हर सेमेस्टर की परीक्षा देरी से हुई है। पीजी परीक्षा भी प्रभावित रही। कोई खेल गतिविधि नहीं हुई। अप्रैल में कोरोना संक्रमण बढ़ने का असर नीट और जेईई प्रवेश परीक्षा पर भी पड़ा है। जहां बोर्ड परीक्षा का रिजल्ट सितंबर में जारी हुआ। वहीं, उसके बाद medical and engineering की परीक्षा ली जा सकी।

परीक्षा के पहले कोरोना गाइडलाइन जारी की गयी। इसका रिजल्ट अक्टूबर में जारी हुआ। अभी तक medical and engineering कॉलेजों में नामांकन प्रक्रिया चल रही है।

bseb board exam pattern

वर्ष 2021 में बच्चों की पढ़ाई पर कोरोना का असर रहा। जहां बच्चे online and offline कक्षाओं में उलझे रहे, वहीं जूनियर कक्षाएं तो पूरे साल भर बंद रही। पहली कक्षा के बच्चे भी ऑनलाइन परीक्षा देना सीख गए। सीनियर कक्षाएं तो अक्टूबर में खुलीं, लेकिन शुरुआत में 50 फीसदी बच्चों को ही बुलाया जा रहा था। इतना ही नहीं कोरोना संक्रमण के कारण सीबीएसई और आईसीएसई ने भी दसवीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा का पैटर्न बदल दिया। दसवीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा दो भाग में लिये जाने का निर्णय लिया गया। 2021 में भी सीबीएसई, आईसीएसई दसवीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा प्रभावित हुई, जहां 2020 में औसत अंक देकर रिजल्ट जारी किया गया। वहीं 2021 में परीक्षा नहीं ली जा सकी। ऐसे में बोर्ड द्वारा पिछले तीन सालों के रिजल्ट के आधार पर दसवीं और 12वीं का रिजल्ट जारी किया गया था।

⇒  कोरोना संक्रमण का असर आवासीय विद्यालय पर भी हुआ। एक तो सालभर स्कूल बंद रहे। वहीं इस बार छठी कक्षा में नामांकन के लिए आवेदन भी कम आए हैं।

A WHATSAPP ग्रुप ज्वाइन होने के लिए ज्वाइन बटन दवाकर ज्वाइन हो सकते हैं। JOIN
B TELEGRAM CHANNEL ज्वाइन होने के लिए ज्वाइन बटन दवाकर ज्वाइन हो सकते हैं। JOIN
C FACEBOOK PASE ज्वाइन होने के लिए ज्वाइन बटन दवाकर ज्वाइन हो सकते हैं। JOIN
D INSTAGRAM ज्वाइन होने के लिए ज्वाइन बटन दवाकर ज्वाइन हो सकते हैं। JOIN

10vii aur 12vii kii board parikshaayen.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

720 Px X 88Px